ALL देश/विदेश यूपी राजनीति ज्योतिष/धर्म स्पोर्ट्स विशेष
मछलीशहर बैंक लूट काण्ड में पुलिस अधीक्षक ने कोतवाल समेत चार पुलिस कर्मियों का किया निलंबन
November 17, 2019 • मनीष श्रीवास्तव ,जौनपुर • यूपी

जौनपुर - पुलिस अधीक्षक जौनपुर द्वारा राजकीय कर्तव्यों के प्रति घोर लापरवाही, उदासीनता, अकर्मण्यता बरतने वाले प्रभारी निरीक्षक मछलीशहर, नि0 पर्व कुमार सिंह ,उ0नि0 रोहित मिश्रा,मु0आ0 वीरेन्द्र राय, मु0आ0 विजय प्रताप सिंह के विरुद्ध निलम्बन की कार्यवाही की गई।

पुलिस अधीक्षक जौनपुर, श्री रविशंकर छबि ने बार-बार निर्देश देने के बावजूद भी टाप-10 अपराधियों एवं अन्य अपराधियों की निगरानी में लपारवाही बरतने, एक्सिस बैंक की सुरक्षा ड्यूटी न लगाने, नियमित रुप से बैंकों की चेकिंग न करने के कारण आज दिनांक 16.11.2019 को दिन दहाड़े बैंक लूट जैसी गम्भीर घटना घटित हुई।

जिससे जनपदीय पुलिस की छवि धूमिल हुई। इनके द्वारा राजकीय कर्तव्यों के प्रति घोर लापरवाही, उदासीनता, अकर्मण्यता बरतने के लिये नि0 पर्व कुमार सिंह , उ0नि0 रोहित मिश्रा, मु0आ0 वीरेन्द्र राय , मु0आ0 विजय प्रताप सिंह को निलम्बित कर दिया गया है।

आपको बताते चले

शनिवार को मछलीशहर ऐक्सिस बैंक में नहीं था तो बस शूटिग स्टाफ बाकी सबकुछ किसी फिल्म की पटकथा में शामिल बैंक लूट की घटना सरीखा ही था।

महज दो मिनट 11 सेकेंड में ही बैंक से बदमाशों ने 15 लाख रुपये लूट लिये।

इस दौरान बैंक में मौजूद कर्मियों व ग्राहकों के चेहरे पर मौत नाचती दिखी क्योंकि असलहे ताने बदमाश हिलने पर भी गालियां देते हुए गोली मार देने की धमकी दे रहे थे।नतीजतन बदमाशों के जाने के काफी देरबाद तक हर चेहरा खौफजदा दिखा।आमदिनों की तरह शनिवार को भी बैंक 10 बजे खुला। सामान्य ढंग से कामकाज चल रहा था कि दोपहर 12.11 बजे सात-आठ ग्राहक बैंक में मौजूद थे।

उसी समय दो बाइकों से हेलमेट पहने मॉस्क लगाए तीन बदमाश धमक पड़े। गेट पर तैनात गार्ड ने टोका तो पिस्टल तानकर अंदर धकेल दिया।हर कोई हक्का-बक्का रह गया। किसी के हिलने पर भी गालियां देते हुए बदमाशों ने गोली मार देने की धमकी देकर कतार में खड़ा करा दिया।

सिर्फ दो मिनट 11 सेकेंड में कैश काउंटर से 14.95 लाख रुपये लूटकर बैग में भर लिये। इस दौरान बैंक में मौजूद कर्मचारी हों या ग्राहक सभी के चेहरे पर मौत नाच रही थी।इसके बाद बदमाश असलहे लहराते हुए बैंक से निकले और बाइकों पर सवार होकर जौनपुर की तरफ भाग गए।

सिर्फ तीन ग्राहकों ने जमा किए थे रुपये लूटकांड के वक्त तक सिर्फ तीन ग्राहकों ने रुपये जमा किए थे।

बैंक के कैशियर मोहम्मद फैज ने बताया कि नगर के फल व्यवसायी महमूद आलम ने 9.90 लाख, एक ग्राहक के 19 हजार जबकि एक अन्य खाताधारक ने दस हजार रुपये जमा किए थे।बाकी 4.76 लाख बैंक का कैश था। महमूद आलम के रुपये जमा कर निकलते ही बदमाश बैंक में घुसे।

घटना ने बैंकों की सुरक्षा व्यवस्था की कलई भी खोल दी। बैंक द्वारा महज एक गार्ड रखा गया था अपराधियों का मुकाबला करने के लिए असलहा तो क्या उसके पास डंडा भी नहीं था।