ALL देश/विदेश यूपी राजनीति ज्योतिष/धर्म स्पोर्ट्स विशेष
इलेक्ट्रिकल टीम ने जांच पड़ताल कर सम्भावना व्यक्त की ट्रांसफार्मर फटने से लगी थी बीएसएनएल गोदाम में आग
January 29, 2020 • मनीष श्रीवास्त्व ,जौनपुर

जौनपुर - ईशापुर स्थित बीएसएनएल के गोदाम में लगी आग पर दूसरे दिन मंगलवार की शाम करीब 36 घंटे बाद पूरी तरह काबू पाया जा सका। शाम को करीब चार बजे दमकल बीएसएनएल गोदाम से वापस गई।

आधी रात तक आग पर काबू पा लिया गया था लेकिन कहीं-कहीं आग सुलगने लग रही थी। लिहाजा रात भर दमकलें इंतजार करती रहीं। अगलगी की घटना में करीब आठ करोड़ की क्षति हुई है।

आजमगढ़ से आई इलेक्ट्रिकल टीम ने जांच पड़ताल की। प्रारंभिक जांच में आग लगने का कारण ट्रांसफार्मर में विस्फोट माना जा रहा है।बुधवार को प्रयागराज और वाराणसी से भी जांच टीम आएगी।

गोदाम में सोमवार की भोर में आग लग गई थी। घनी आबादी के बीच स्थित गोदाम में आग लगने से अफरातफरी मच गई । स्टोर में रखे ऑप्टिकल फाइबर केबल, पाइप, राउटर तमाम कीमती सामान जलकर नष्ट हो गए।जौनपुर और वाराणसी की दमकल की नौ गाडिय़ों की मदद से आग बुझाई गई। सोमवार को भोर में करीब चार बजे से आग बुझाने प्रयास शुरू हुआ। 36 घंटे बाद आग पर काबू पाया गया। 

टीडीएम चंद्र प्रताप पांडेय ने बताया कि स्टोर में रखे सामानों का स्टाक रजिस्टर से मिला किया गया है। करीब सात करोड़ से अधिक की क्षति हुई है।

खरीदे गए सामानों की आनलाइन कोडिंग होती है।उससे भी मिलान किया जाना बाकी है। कोडिंग के साथ मिलान से क्षति का सही आकलन हो सकेगा।अवर अभियंता इलेक्ट्रिकल कैलाशपुरी की अगुवाई में आजमगढ़ से आई इलेक्ट्रिकल टीम ने जांच पड़ताल की। प्रारंभिक जांच में पता चला है कि आग लगने का कारण ट्रांसफार्मर में विस्फोट हो सकता है।

वैसे जांच के लिए अभी बुधवार को प्रयागराज और वाराणसी से भी टीम आने की संभावना है। गोदाम में लगी आग में दो रायफल भी जलकर नष्ट हो गई। स्टोर की रखवाली के लिए रात में दो सशस्त्र समेत चार पीआरडी के जवानों की तैनाती रहती है।रात में जब स्टोर में आग लगी तो गार्ड भी आग बुझाने में जुट गए। इस दौरान दोनों गार्डों की रायफल भी स्टोर में आग की भेंट चढ़ गई।