ALL देश/विदेश यूपी राजनीति ज्योतिष/धर्म स्पोर्ट्स विशेष
आज़म खान के बिगड़े बोल पर बवाल ......मांगी माफ़ी
July 30, 2019 • Neha Sengar

आजम खान ने रमा देवी पर अभद्र टिप्पणी के मामले में लोकसभा में मांगी माफी

समाजवादी पार्टी (एसपी) सांसद आजम खान महिला सांसद रमा देवीपर अपनी आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर आज लोकसभा में मांफी मांग ली। आजम ने एक बार नहीं बल्कि दो-दो बार माफी मांगी। कहा,'अध्यक्षजी, जो बात आपके समक्ष मेरे संबंध में आई है, मेरी कोई ऐसी भावना चेयर के प्रति न थी, न हो सकती है। मैं दो बार संसदीय कार्य मंत्री रहा हूं, चार बार मंत्री रहा हूं, नौ बार विधायक रहा हूं, राज्यसभा सदस्य रहा हूं। मेरे भाषण, मेरे आचरण को पूरा सदन जानता है। इसके बावजूद भी अगर चेयर को मेरे प्रति ऐसा लगता है कि मुझसे भावना में कोई गलती हुई है तो मैं क्षमा चाहता हूं।'

 

रमा देवी बोलीं- आपकी आदत जरूरत से ज्यादा बिगड़ी हुई है

सपा सांसद आजम खान ने लोकसभा में भाजपा सांसद रमा देवी के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने पर माफी मांग ली है। आजम ने सोमवार को लोकसभा की कार्यवाही के दौरान रमा देवी को अपनी बहन बताया। इस पर रमा देवी ने कहा कि आपकी आदत जरूरत से ज्यादा बिगड़ी हुई है। यह आदत जानी चाहिए। आजम ने 25 जुलाई को पीठासीन अधिकारी रमा देवी पर अभद्र टिप्पणी की थी।

'हमारी कोशिश होनी चाहिए कि आसंदी की गरिमा बनी रहे'

स्पीकर ओम बिड़ला ने कहा, ''ये सदन सबका है। ये सबकी सहमति से चलता है। मेरा सभी से आग्रह है कि जब बात करें तो चेयर (आसंदी) की तरफ देखकर बात करें। ऐसा कोई भी शब्द जिससे हमारी छवि खराब हो, उसे नहीं कहना चाहिए। हमारी कोशिश होनी चाहिए कि आसंदी की गरिमा बनी रहे।''

संसद की कार्यवाही से पहले ओम बिड़ला ने अपने ऑफिस में अखिलेश यादव और आजम खान के साथ बैठक भी की थी। इसमें रमा देवी भी शामिल रहीं।

आजम खान की यह आदत जानी चाहिए: रमा देवी

रमा देवी ने कहा- आजम खान के बयान से देशभर की महिलाओं के सम्मान को ठेस पहुंची है। उनकी ऐसी आदत रही है, यह आदत जानी चाहिए। ये सदन के बाहर भी ऐसे ही विवादित बयान देते रहे हैं। आजम खान की जो आदत रही है, ऐसा नहीं कि वो जो मन में आए बोल दें। अखिलेश यादव भी उनका साथ दे रहे हैं।

बगैर माफी मांगे संसद से चले गए थे आजम

25 जुलाई को लोकसभा में तीन तलाक बिल पर बहस के दौरान शिवहर (बिहार) से सांसद रमा देवी आसंदी पर बैठी हुई थीं। तभी आजम ने उन पर टिप्पणी की। इसके बाद लोकसभा में जमकर हंगामा हुआ। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आजम से माफी की मांग की थी। वहीं, बिड़ला ने भी आजम से माफी मांगने को कहा। इसके बाद आजम ने रमा देवी को अपनी प्यारी बहन बताया। लेकिन माफी मांगने की बात पर वह यह कहकर सदन से बाहर चले गए कि मुझे बेइज्जती सहकर यहां बात नहीं रखनी।

मुझमें आजम जैसे लोगों का सामना करने की हिम्मत: रमा देवी

रमा देवी ने आजम के बयान पर शनिवार को कहा था- “जिस कुर्सी पर मैं बैठी थी वह सभी की है। उन्होंने अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल देश की सभी महिलाओं के लिए किया है। मेरे संसदीय क्षेत्र की जनता ने मुझ पर विश्वास जताया और मुझे चुनकर संसद में भेजा। मुझमें ऐसे लोगों (आजम खान) का सामना करने की ताकत है।”

हालांकि, रमा देवी इससे संतुष्ट नहीं हुईं और कहा कि आजम खान ने पहली बार ऐसा नहीं बोला, बल्कि उनकी यह आदत है। उन्होंने कहा, 'सदन में आजम खान ने जो बोला उससे पूरे हिंदुस्तान को तकलीफ पहुंची है। यह बाहर भी ऐसा ही बोलते रहे हैं क्योंकि इनकी आदत जो बिगड़ी हुई है।' उन्होंने कहा कि आजम को अपनी आदत सुधारनी होगी। रमा ने कहा, 'इनकी आदत जरूरत से ज्यादा बिगड़ी हुई है। आजम की आदत सुधरनी चाहिए। मैं संघर्ष करके लोगों की आवाज बनी हूं। आजम के मन में जो आए, वह नहीं बोल सकते हैं। 

आजम खान के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग, निलंबन की मांग

 लोकसभा की पदासीन अध्यक्ष रमा देवी पर सांसद आजम खान द्वारा आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में सोमवार को भारतीय कुलचुरी जायसवाल समवर्गीय महासभा ने सचिवालय पर प्रदर्शन किया। उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष के नाम सौंपे ज्ञापन में मांग की है कि समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान को लोकसभा से निलंबित किया जाए। लोगों ने आजम खान मुर्दाबाद के नारे लगाए।

आहलुवालिया- जायसवाल (कलाल) समाज के जिला संयोजक कुलदीप सिंह वालिया, अनिल वालिया, रमेश आहलूवालिया, सचिन ने लोकसभा अध्यक्ष के नाम भेजे ज्ञापन में कहा कि 25 जुलाई को संसद सत्र में सांसद आजम खान ने तत्कालीन पदेन अध्यक्ष लोकसभा रमा देवी शिबहर पर अमर्यादित टिप्पणी की थी। उनकी इस टिप्पणी में भद्दे शब्दों का प्रयोग किया गया था जो संसदीय मर्यादा व महिला असमिता की गरिमा के सर्वथा विपरीत आचरण है। भारत का कलाल-कलवार- कलार समाज समेत समस्त वैश्व एवं पिछड़ा समाज उक्त घटना से आहत है। इसलिए आज खान पर कड़ी कार्रवाई की जाए और उनका संसद से अविलंब निलंबन किया जाए।

आजम खान की बढ़ीं मुश्किलें, अब लगा लग्जरी रिसॉर्ट के लिए जमीन हड़पने का आरोप

समाजवादी पार्टी (सपा) सांसद आजम खान (Azam Khan) जमीन हथियाने के 26 नए मामलों के बाद अब एक और करोड़ों रुपये के जमीन घोटाले में फंस गए हैं. उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग ने उनको रामपुर में लग्जरी रिसॉर्ट हमसफर के लिए सरकारी जमीन कब्जाने को लेकर नोटिस जारी किया है. जिला प्रशासन ने सरकारी जमीन के एक बड़े टुकड़े को कब्जाने के संबंध में अनियमितताओं का आरोप लगाया है. इस जमीन पर गेस्ट हाउस का निर्माण किया गया है. उत्तर प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान(Azam Khan) के खिलाफ सरकारी और गरीब किसानों की कृषि योग्य भूमि हथियाने के सिलसिले में लगातार मामले दर्ज किए जाने के बाद उनको भूमाफिया घोषित किया गया है I

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी)भी खान के निजी विश्वविद्यालय के खाते में विदेशों से दान मिलने से संबंधित कथित धनशोधन के आरोपों की जांच कर रहा है. ईडी ने रामपुर पुलिस से आजम खान के खिलाफ दर्ज मामलों की सूची मांगी है. इस बीच प्रदेश पुलिस ने आजम खान के स्टाफ को मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी से संबंधित जमीन के सभी सौदों का ब्योरा देने के लिए तीन दिन का अल्टीमेटम दिया है I

पुलिस अधीक्षक (रामपुर) अजय पाल शर्मा ने आईएएनएस को बताया कि पुलिस ने राजस्व रिकॉर्ड, भुगतान रसीद और जिनसे जमीन ली गई है उन पक्षों के साथ जमीन के करार का ब्योरा मांगा है. खरीदी गई जमीन का मूल्य कई सौ करोड़ रुपये है I